TOP DIL SHAYARI, NEW DIL SHAYARI, DIL SHAYARI

dil shayari in hindi, hindi dil shayari in hindi, top dil shayri, bewst dil shayri, heart shayari, mutu shayari, love dil shayari, dil ki shayari, shayari ki diary in hindi latest love shayari in hindi on dil.

TOP DIL SHAYARI IN HINDI, NEW DIL SHAYARI




Chand se phul se ya meri zuban se suniye
har taraf aap ka qisa jahan se suniye

sab ko aata hai duniya ko sata kar jina
zindagi kya muhabbat ke dua se suniye

meri aavaz parda mere chehare ka
main hun khamosh jahan mujhako vahan se suniye

kya zaruri hai ki har parda uthaya jaye
mere halat apne apne makan se suniye

चाँद से पल से ये मेरी जुबां से ,सुनिए 
 हर तरफ आप का किस्सा जहा से सुनिए। 

सब को आता है दुनिया को सत्ता कर जीना ,
ज़िन्दगी  मोहब्बत की दुआ से सुनिए। 

मेरी आवाज़ पर्दा मेरे चेहरे का ,
मैं हु खामोश जहाँ मुझको वह से सुनिए। 

किया ज़रूरी है की हर पर्दा उठाया जाए ,
मेरे हालत अपने अपने मका से सुनिए। 

-------------------------------------------------

Ae Mere Hamnasheen Chal Aur Kahin
Is Chaman Ab Apna Gujara Nahin
Baat Hoti Gulon Tak To Seh Lete Hum
Ab To Kanto Pe Bhi Haq Hamara Nahin

 ए मेरे हमनशी चल और कही ,
इस चमन अब अपना गुजरा नहीं। 
बात होती गुलो तक तो सेह लेते हम ,
अब तो कांटो पे भी हक़ हमारा नहीं। 

-------------------------------------

Sari Umer Me Ek Pal B Aram Ka Na Tha
Wo Jo Dil Mila Kisi Kam Ka Na Tha
Kaliya Khil Rai Thi Har Gul Tha Taza
Magar Koi Bhi Phool Mere Nam Ka Na Tha

साड़ी उम्र में एक पल भी आराम का न था ,
वो जो दिल मिला किसी काम  न था। 
कालिया खिल रही थी हर गुल था ताज़ा ,
मगर कोई भी फूल मेरे नाम का न था। 



---------------------------------------------

Bagair Jane Pahechane Ikrar Na Kijiye
Muskura Kar Diloko Bekrar Na Kijiye
Phool Bhi De Jate Hai Zakham Gahere Kabhi Kabhi
Har Phul Par Yu Aaitbar Na Kijiye

बगैर जाने पहचाने इकरार न कीजिये ,
मुस्कुरा कर दिलोको बेक़रारा न कीजिये। 
 फूल भी दे जाते है ज़ख्म गहरे कभी कभी। 
हर फूल  पर यु ऐतबार न कीजिये। 

------------------------------------------------------ 

Jo Teer Bhi Aata Vo Khaali Nahi Jaata
Maayoos Mere Dar Se Savaali Nahi Jaata
Are Kaante Hi Kiya Karate Hain Phoolon Ki Hifaazat
Phoolon Ko Bachane Koi Maali Nahi Jaata.

 जो तीर भी आता है वो खली नहीं ,जाता 
मायूस मेरे  दर से सवाली नहीं जाता। 
अरे कांटे हो किया करते है फूलो की हिफाज़त ,
फूलो को  बचने कोई माली नहीं जाता। 

--------------------------------------------

Br-e-Bahar Ne
Phool Ka Chehra
Apne Banafshi Hath Main Le Kar
Aise Chooma
Phoolk Sare Dukh
Khushboo Ban Kar Beh Nikle

बर-ए-बहार ने ,
फूल का चेहरा ,
अपने बनफ़शी हाथ में लेकर ,
ऐसे चूमा ,
फूल के सरे दुःख ,
खुशबु बनकर बह निकले। 

--------------------------------------------

Koi Na Milay To Qismat Se Ghila Nahi Karty
Aksar Log Mil Ker Bi Mila Nahi Karty
Har Shaakh Par Bahaar Aati Hy Zaror
Par Har Shaakh Par Phool Khila Nhi Krty

कोई न मिले तो किस्मत से गिला नहीं करते ,
अक्सर लोग मिलकर भी मिला नहीं करते। 
हर शक्श पर बहार आती है ज़रूर ,
पर हर शक्श पर फूलो खिला नहीं करता। 

-------------------------------------------------

Barso Baad Na Jaane Kaun Kaha Hoga,
Hum Dono Me Se Na Jaane Kaun Kaha Hoga,
Phir Milna Hua To Milenge Khwabo Me,
Jaise Sukhe Gulab Milte Hain Kitabo Me

बरसो बाद न जाने कौन कहा होगा ,
हम दोनों में से न जाने कौन कहा होगा। 
फिर मिलना हुआ तो मिलेंगे ख्वाबो में 
जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबो में। 

-----------------------------------------------

Dushmano Me Bhi Dost Milaa Karte Hai
Kaanto Me Bhi Phool Khila Karte Hai
Humko Kanta Samajh Kar Chod Na Dena
Kaante Bhi Phoolon Ki Hifazat Kiya Karte Hai

दुश्मनो में भी दोस्त  मिला करते है ,
कांटो में भी  फूल खिला करते है। 
हमको काँटा समझ कर छोड़ न देना ,
कांटे भी फूलो की हिफाज़त किया करते है। 

------------------------------------------------

Aisa Dikhai Dena Hazaron Ke Darmyan
Sajta Hay Chand Jaise Sitaron Ke Darmyan
Logo Ke Beech Rah Ke Bhi Rehna Yun Munfarid
Jaise Ghulab Hota Hay Kanton Ke Darmyn

ऐसा दिखाई देना हज़ारो के दरमियान ,
सजता है चाँद जैसे सितारों के  दरमियान। 
लोगो के बीच रह के भी रहना यु मुनफ़रारिद ,
जैसे गुलाब होता है कांटो के बीच। 

-------------------------------------------------

Bewafaa Voh Nahi Hum Hi Kharab The
Zeher Ki Zarurat Nahi Mar Jayenge Shrab Se
Kaante Mehsus Hi Nahi Hue Kyonki
Pyar Hi Itna Tha Uss Gulab Se

बेवफा वो नहीं हम ही खराब थे ,
ज़हर की ज़रुरत नहीं मर जायेंगे शराब से। 
कांटे महसूस ही नहीं हुए कियुकी ,
प्यार ही इतना था उस गुलाब से। 

---------------------------------------------

Mitti Ki Anokhi Murat Ho Tum,
Zindagi Ki Ek Zarurat Ho Tum,
Phool To Khubsurat Hote Hai,
Phoolon Se Bhi Khubsurat Ho Tum.

मिटटी की अनोखी मूरत हो तुम ,
ज़िन्दगी की एक ज़रुरत हो तुम। 
फूल तो खूबसूरत होते है ,
फूलो से भी खूबसूरत हो तुम। 



----------------------------------------------


Jab Bhi Kisi Ko Kareeb Paya Hai
Kasam Khuda Ki Wahin Dhokha Khaya Hai
Kyon Dosh Dete Hein Hum Kanto Ko
Zakham To Humne Phulo Se Paaya Hai

जब भी किसी को करीब पाया है ,
कसम खुदा की वही धोका  खाया। है 
कियु दोष देते है हम कांटो को ,
ज़ख्म तो  हमने फूलो से पाया है। 

------------------------------------------

Lafzon Mein Fasaane Dhoondte Hai Hum Log,
Lamhon Mein Zamaane Dhoondte Hai Hum Log,

Tu Zeher Hi De Sharaab Keh Kar Saqi,
Jeene Ke Bahaane Dhoondte Hai Hum Log,

Har Zakhm Ko Seene Pe Saja Lete Hai,
Har Dard Ko Hum Dil Mein Basa Lete Hai,

Tum Phoolon Pe Sote Ho To Dukhta Hai Badan,
Hum Kaanto Ko Aankhon Se Laga Lete Hai..!!!

लफ्जो में फ़साने ढूँढ़ते है हम लोग ,
लम्हो में जमाने ढूँढ़ते है हम लोग। 

तू ज़हर ही दे शराब कह कर साकी ,
जीने के बहाने ढूंढते है हम लोग। 

हर ज़ख्म को सीने पे सजा लेते है ,
दर दर्द को हम दिल में बसा लेते है। 

तुम फूलो पे सोते हो तो  दुखता है बदन ,
हम कांटो को आँखों से लगा लेते है। 

-------------------------------------------------

Khushboo Ki Aarzoo Me Muqadder B Soo Gay
Aandhi Chali Kuch Asi K Apny B Khoo Gay
Kya Tha Tumhara Ye Andaaz Dostoon
Hamdrd Bankr Aay Thy Kanty Chuboo Gaay


खुशबु की आरज़ू में मुकद्दर भी सो गए ,
ांशी चली कुछ ऐसी के अपने भी खो गए। 
किया था तुम्हारा ये अंदाज़ दोस्तों ,
हमदर्द बनकर आये थे कांटे चुभो गए। 

------------------------------------------------

Ek Shamma Andhere Mein Jalaye Rakhna,
Subha Hone Ko Hai Mauhaul Banaye Rakhna,
Kaun Jane Wo Kiss Gali Se Guzre,
Har Gali Ko Phoolo Se Sajaye Rakhna!

 शमा अँधेरे में जलाये रखना ,
सुबह होने को है माहौल बनाये रखना। 
कोण जाने वो किस हाली से गुज़रे ,
हर गली को फूलो से सजाये रखना। 





Previous
Next Post »